Sunday, July 5

अनसुने अल्फ़ाज़/ Morning Thoughts/ Quotes



 अनसुने अल्फ़ाज़/ Morning Thoughts/ Quotes-









 ?हर एक की सुनो
     और हर एक से सीखो
      क्योंकि हर कोई,
      सब कुछ नही जानता
      लेकिन हर एक
      कुछ ना कुछ ज़रुर जानता हैं !





 ?अच्छे लोगों की इज्जत
        कभी कम नहीं होती। 




 ?सोने के सौ टुकड़े करो,
      फिर भी कीमत कम नहीं होती तो तुम वैसा बनो ।




 ?भूल होना “प्रकृत्ति” है,
      मान लेना “संस्कृति” है,
      और उसे सुधार लेना “प्रगति” है। 




  ?तेरा दर हो मेरा सर हो
      ये कृपा उम्र भर हो #Mahadev




  ?परिवार के साथ धैर्य
                         प्यार कहलाता है,
     औरों के साथ धैर्य
                        सम्मान कहलाता है,
     स्वयं के साथ धैर्य
                        आत्मविश्वास कहलाता है,
                     और
     भगवान के साथ धैर्य
                        आस्था कहलाती है !






?मत परेशान रहिये मस्त रहिये व्यस्त रहिये        क्योंकि-




 1.पैतालिस साल की अवस्था में “उच्च शिक्षित” और “अल्प शिक्षित” एक जैसे ही होते हैं।




2. पचपन साल की अवस्था में “रूप” और “कुरूप” एक जैसे ही होते हैं। (आप कितने ही सुन्दर क्यों न हों झुर्रियां, आँखों के नीचे के डार्क सर्कल छुपाये नहीं छुपते)




3. साठ साल की अवस्था में “उच्च पद” और “निम्न पद” एक जैसे ही  होते हैं।(चपरासी भी अधिकारी के सेवा निवृत्त होने के बाद उनकी      तरफ़ देखने से कतराता है)




4. सत्तर साल की अवस्था में “बड़ा घर” और “छोटा घर” एक जैसे ही होते हैं। (घुटनों का दर्द और हड्डियों का गलना आपको बैठे रहने पर मजबूर कर देता है, आप छोटी जगह में भी गुज़ारा कर सकते हैं)




5. अस्सी साल की अवस्था में आपके पास धन का “होना” या “ना होना” एक जैसे ही होते हैं। ( अगर आप खर्च करना भी चाहें, तो आपको नहीं पता कि कहाँ खर्च करना है)




6. नब्बे साल की अवस्था में “सोना” और “जागना” एक जैसे ही होते हैं। (जागने के बावजूद भी आपको नहीं पता कि क्या करना है)




जीवन को सामान्य रुप में ही लें 
क्योंकि जीवन में रहस्य नहीं हैं जिन्हें आप सुलझाते फिरें।


#आगे चल कर एक दिन हम सब की यही स्थिति होनी है इसलिए     चिंता, टेंशन छोड़ कर मस्त रहें स्वस्थ रहें।
 यही जीवन है और इसकी सच्चाई भी।
                       


                           

Leave a Reply