Saturday, September 19

Kuch ansune alfaaz zindagi ke (2) कुछ अनसुने अल्फ़ाज़ ज़िन्दगी के || Real Zindagi

Ansune alfaaz By Realzindagi.com

कुछ अनसुने अल्फ़ाज़ ज़िन्दगी के





⇒तुम्हारे कलमों की ताकत ही,
  तुम्हें तुम्हारें मकसद
  उर्फ़ उस ऊंची बिल्डिंग की
  घूमने वाली कुर्सी पर बिठायेगी |  

⇒सुकून कभी भी ढूंढने से नहीं मिलता
   बल्कि अपनी मेहनत के फल से मिलता है |

⇒ राहें तो आसान रही थी,
     बस आलस्य ने काटें उगा कर मुश्किलें ला दी

⇒पंख तो उनके भी खुले थे,

    पर वो उड़ नहीं पाए क्योंकि
     उनकी छोटी सोच से उनके पैर बंधे थे|
                                  
                                                                                                                                                           






Leave a Reply